Breaking News

6/breakingnews/random

आपकी सुन्दरता को बढाती है नाईट क्रीम Night Cream Tips For Glowing Skin In Hindi

किसी पार्टी में जाने के लिए तो आप खूब मेकअप करके चमक उठती है| दिन में कही भी जाना हो तो आप अच्छी तरह बन-सँवर जाती है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि रात में जब आप आराम कर रही होती है, तब आप अपनी त्वचा के लिए क्या करती है? रात के समय सोने से पूरे शरीर को ही नहीं, त्वचा को भी आराम मिलता है| यह वह समय होता है जब उसे दिन भर के प्रदूषण से छुटकारा मिलता है, इसलिए त्वचा को पोषण देने के लिए सही मायने में यही उपयुक्त समय होता है|


सोते समय त्वचा कि उचित देखभाल करने से त्वचा की मृत कोशिकाएँ हट जाती है (Dead skin cells removed) और नई कोशिकाएँ का निर्माण तेजी से होता है (New cells generates)| त्वचा के निखार और उसे असमय झुर्रियों से बचाने के लिए यह बहुत जरूरी है कि रात में इसकी देखभाल की जाए, क्योकि जितनी तेजी से नई कोशिकाएँ का निर्माण होता है, उतनी ही त्वचा निखरती है और उम्र के प्रभाव से बची रहती है|

दिन में इस्तेमाल की जानेवाली क्रीम त्वचा का आवरण बनकर बाहरी प्रभावों से उसे बचाती है, जबकि नाइट क्रीम त्वचा को पुनर्जीवन देती है (Night Cream Rejuvenates The Skin And Gives It Glow)|

नाइट क्रीम मूल रूप से नरिशिंग क्रीम है (Night cream is basically nourishing cream), जो सामान्य व शुष्क त्वचा के लिए बेहद उपयोगी होती है (Night cream is good for normal and dry skin)| अगर आपकी त्वचा तैलीय है और आपकी मुहांसों की शिकायत है, तो नाइट क्रीम का इस्तेमाल मत कीजिए (If your skin is oily then it is better to avoid night cream on your skin)|

जिनकी त्वचा शुष्क होती है, उनके ऊपर उम्र का प्रभाव जल्दी पड़ता है (People who have dry skin they age faster), इसलिए ऐसी त्वचा को पर्याप्त पोषण देने के लिए नाइट क्रीम बेहतर साबित होता है (Night cream for dry skin is best and useful)| यह झुर्रियों से त्वचा को बचाती है और इसकी कोमलता बनाए रखती है|

डर्मिटोलॉजिस्टों का मानना है कि नाइट क्रीम के इस्तेमाल से त्वचा की कोमलता बरकरार रहती है (Night cream keeps your skin soft and glowing)| चूंकि रात में त्वचा को नमी, ताप या हवा का सामना नहीं करना पड़ता, इसलिए यह एकसमान अवस्था में रहती है| ऐसी स्थिति में यह पोषक तत्वो को आसानी से ग्रहण कर पाती है|


कुछ साल पहले तक नाइट क्रीम में तैलीय तत्व बहुत ज्यादा हुआ करते थे, इसलिए वे चिपचिपाहट युक्त होते थे, लेकिन आज बाजार में ऐसे नाइट क्रीम मौजूद है, जो इस्तेमाल में बहुत हल्के है और हर प्रकार की त्वचा को ध्यान में रखकर बनाए गए है| अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (एएचए), विटामिन-सी व विटामिन-ई जैसे एंटीऑक्सीड़ेट्स से भरपूर नाइट क्रीम के इस्तेमाल से त्वचा मखमली हो जाती है|

कैसे लगाए नाइट क्रीम How To Apply Night Cream On Skin

1.चेहरे की सफाई करे, फिर इस पर नाइट क्रीम लगाए|
2.क्रीम अधिक मात्रा में न लगाएँ|
3.अगर त्वचा तैलीय है (तैलीय त्वचा कैसे पहचाने), तो क्रीम पूरी रात न लगा रहने दे|
4.थोड़ा-सा पानी लेकर क्रीम से चेहरे पर मसाज करे| मसाज हमेशा सर्कुलर मोशन और नीचे से ऊपर की ओर करे| उँगलियों को हल्के-हल्के घुमाएँ, जल्दबाज़ी में मसाज न करे|
5.3-4 मिनट मसाज करने के बाद भीगे हुए रुई से क्रीम हटा ले|

6.आंखो के आसपास मसाज न करे| आंखो के लिए आई क्रीम का इस्तेमाल करे|

अब ऐसे बढेगी आपकी सुन्दरता Beautiful Face and Skin In Hindi


हर कोई सुंदर दिखना चाहता है कोई लोग मानते है की जन्म से ही कोई सुंदर होता है पर ऐसा नही है आज हम आपको बताने जा रहे है की कैसे आपकी भी सुंदरता निखर सकती है बीएस आपको ये टिप्स फॉलो करने होगे.



खुश रहेंगे तो सुन्दरता बढेगी -

1.सकारात्मक सोचे और खुश रहें। हंसने का कोई बहाना खोजती रहें।

2.कुछ ऐसा करें, जिससे आत्मिक संतुष्टि मिले | कोई शौक पैदा करें, किसी की मदद करके देखें, किसी का दोस्त बनकर देखें।

3.परिवार को अपनी ताकत बनाएं, रिश्तों में मधुरता बनाए रखें। निजी स्तर पर खुश रहेंगे तो सामाजिक स्तर भी बेहतर रहेगा और कॅरियर का विकास भी हो सकेगा।

4.अच्छा खाएं, अच्छा सोचें, अच्छा देखें, सुनें और पढ़े। भरपूर नीद लें। जीवन के हर उतार-चढ़ाव को सहज भाव से स्वीकार करें, क्योंकि कुछ भी स्थाई नहीं होता।

5.ईष्या-द्वेष, निंदा और नफरत को दिल से दूर करें। शरीर के साथ विचारों को भी स्वच्छ बनाएं।

6.खुद को थोड़ा समय अवश्य दें। योग करें, प्रकृति के साथ कुछ क्षण बिताएं, व्यायाम करें, सैर करें, ध्यान करें | आज की लाइफस्टाइल में सुंदर दिखने की ये जरुरी शर्ते हैं।

मेकअप भी हमारी सुन्दरता को बढाता है -


केवल अपने चेहरे पर मेकअप कर लेने भर से कुछ देर के लिए तो हमारे सौंदर्य में निखार आता है, लेकिन ये केमिकल युक्त प्रसाधनो का हमारी त्वचा पर क्या असर पड़ता है ये हम नहीं सोचते | अगर आप हमेशा अपनी त्वचा को निखरी देखना चाहती है तो नीचे दी गई बातों पर अमल कर के आप अपनी त्वचा में निखार ला सकती हैं | आमतौर पर हम सौंदर्य से जुड़ी छोटी-छोटी बातों पर ध्यान नहीं देते, लेकिन वे वास्तव में हमारी त्वचा और चेहरे के सौंदर्य को बढ़ाने में सहायक होती हैं | वे कौन सी पंद्रह बातें हैं जिन पर ध्यान देना बेहद जरुरी है |

1. अपनी त्वचा के अनुसार ही मेकअप का इस्तेमाल करें |

2. हमेशा चेहरा धोने के बाद टोनर लगाएं | इससे मेकअप अधिक देर तक टिकता है |

3. फाउंडेशन लगाने से पहले गीली त्वचा पर ही हल्का सा मॉयस्चराइजर लगाएं, ताकि वह एक जैसा दिखे और चेहरे पर स्वाभाविक ग्लो नजर आए |

बस आप इन तरीको को अपनाइए और देखिये कैसे आपकी सुंदरता बढती है !

Tags: beautiful girl in india in hindi tips,ayurvedic beauty tips in hindi,beauty tips in hindi for face in summer in hindi,beauty tips in hindi,skin care tips in hindi at home,Face Care Tips,beauty tips for face at home in hindi,tips for glowing skin homemade in hindi ,how to get glowing skin naturally in hindi,home remedies for healthy skin in hindi ,how to glow skin in one day in hindi,glowing skin secrets in hindi ,how to look beautiful naturally in hindi ,healthy skin tips for face in hindi

15 मिनट मे गोरी त्वचा पाने के घरेलू उपाय और तरीके Beauty Tips In Hindi

आप जानेगे की कैसे कुछ ही दीनो में आप गोरा हो सकते हैं | काउंट ऑफ़ मोंटे क्रिस्तो कहानी में हीरो को अँधेरी काल कोटरी में कैद कर के रखा गया था जिस के कारण उस की त्वचा, जब उसे बाहर निकाला गया तब वह बिलकुल सफ़ेद हो गया था| जी हाँ, अँधेरे में लम्बे समय तक रहने से त्वचा गोरा हो जाती है| मगर आप को ऐसा करना मुमकिन नहीं है न तो जरूरी है| इस से आसान गोरा होने के उपाय (gora hone ke upay in hindi) हम आप को यहाँ पर बताएँगे जिन्हें आप अवश्य उपयोग करे|



आप पूछेंगे की गोरा क्यों बने| कृष्णा कन्हैया तो सावला था, शिवजी भी तो सावले थे और यक़ीनन श्री राम जी भी श्याम ही थे तो हम में ऐसे क्या कमी है की गोरा बने| गोरा इसीलिए होना जरूरी है क्योंकि आज के समाज में गोरे लोगो को ज्यादा पसंद किया जाता है और उन्हें सामाजिक वर्तुल में और नौकरी-धंधे में सफलता प्राप्त होती है| समझे? तो अपनाये गोरे होने के घरेलू नुस्खे (gore hone ke tips in hindi) क्योंकि लड़की हो या लड़का गोरा होना इछनिय है|

रंग गोरा कैसे करे प्रश्न के जवाब जान्ने से पहले यह जानिये की चेहरा साफ करने के उपाय कौनसे है| यह भला क्यूं? इस का कारण है की अगर चेहरा खिला हुआ नहीं लगता है क्यों की त्वचा पर मैल जमा हुई है|

चेहरा साफ करने के उपाय

त्वचा को साफ़ करने (face ko clean kaise kare in hindi) से आप का चेहरा दमक उठेगा और ऐसा लगेगा जैसे की रंग सुधर गया है| इस तरह साफ़ करे आप के त्वचा को:

1.भाप (steaming) द्वारा : एक कित्तली में पानी डाल के गरम करे और जब भाप निकलने लगे तो चेहरे पर कित्टली को फेरे और त्वचा को भाप लगे| साथ में रुई का टुकड़ा रखे और चेहरे को घिसते रहिये| भाप लगने से मरे हुए कोशिका ढीले हो जायेंगे और रुई के अन्दर चिपक कर निकल जायेंगे|

2.अगर त्वचा पर तेल बहुत जमा हो गया है और मृत कोशिका भी है तो आप अल्कोहल (आइसोप्रोपिल अल्कोहल) का उपयोग कर सकते है| रुई को भिगो के त्वचा पर फेरे, रुई काला होता जाएगा| यह प्रयोग कभी कभी ही करे क्योंकि यह तेल बिलकुल निकाल देता है|

3.कुमारी याने एलो वेरा, मुल्तानी मिटटी और बेसन का मिश्रण से त्वचा घिसे| यह प्राकृतिक 
तरीके से त्वचा साफ़ कर देती है|

4.खाने का सोडा का उपयोग करे| इस में पानी मिला के पेस्ट बनाये और दो तीन बूँद हाइड्रोजन पेरोक्साइड या तो सिरका मिला के त्वचा को अच्छी तरह से घिसे तो त्वचा साफ़ हो जाएगा|

5.मुल्तानी मिटटी और निम्बू का मिश्रण से भी चेहरे की त्वचा को आप साफ़ कर सकते है|

6.चीनी को थोड़ा सा पानी में उबाले और गाड़ा बना दे| अब इस में निम्बू का रस मिला दे और चेहरे पर लगा के सूखने दे और बाद में घिस के निकाले ताकि छोटे बाल भी निकल जायेंगे और मृत कोशिका भी| चेहरा साफ करने के तरीके में यह बेहतरीन उपाय है|

जाने चेहरा गोरा कैसे करे?

अगर इस से काम नहीं चलता है और गोरा ही करना है त्वचा को तो चेहरा गोरा कैसे करे का उपाय इस प्रकार है:

1.चेहरे पर रंग लाने के लिए और चेहरे को गोरा करने के लिए हल्दी एक श्रेष्ट सामग्री है| हल्दी के साथ निम्बू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाये| तेली त्वचा वाले यह प्रयोग करे और रुखी त्वचा वाले इस में थोडासा नारियल तेल डाल के चेहरे पर घिसे तो चेहरा गोरा होने लगेगा|

2.एक आसान गोरा चेहरा पाने का उपाय यह है की आप कच्चे आलू को काटे और त्वचा पर घिसते रही १० १५ मिनट तक| ख़ास कर के आँखों के नीचे के भाग के लिए यह गोर होने का तरीका (gore hone ka tarika) बहुत उपयोगी है|

3.गोरे होने के नुस्खे में एक नुस्खा अवश्य कोशिश करे| बेकिंग पाउडर को पानी में मिलाके गाढ़ा लेप बनाये और चेहरे पर लगाने से पहले दो या तीन बूँद हाइड्रोजन पेरोक्साइड इस में मिला ले और झट से चेहरे पर घिसे. १५ मिनट के बाद चेहरा धो डाले|

4.गोरा होने के घरेलु नुस्खे इन हिंदी (gore hone ke gharelu nuskhe in hindi) में एक और प्रयोग है जो दादी माँ के प्रिय नुस्खा माना जाता है| चन्दन, हल्दी, दूध और बेसन को मिश्रण कर के चेहरे पर १० से १५ मिनट तक घिसते रहिये और बाद में चेहरे को धो दे. रंग निखर जाएगा और चंद दिनों में त्वचा गोरा हो जाएगा|

5.चेहरा गोरा कैसे करे उस के लिए एक सरल पद्धति यह है की आप एक पका हुआ केला ले और अच्छी तरह से मसल दे और फिर इस में थोडासा दूध का मलाई मिला के चेहरे पर घिसते रहिये| यह रुखी त्वचा वालो के लिए उत्तम है| अगर इस में हल्दी मिलाया जाए तो और भी अच्छा असर होगा|

6.रंग गोरा करने के टोटके (fair skin tips in hindi) में एक अमूल्य उपाय है गुलाब की पंखुड़ी का उपयोग| इन को अच्छी तरह कुचल के शहद और निम्बू के साथ मिश्रण कर के अपने चेहरे को घिसे १० मिनट तक तो चेहरे पर नूर आ जाएगा|

7.दादी माँ के घरेलु नुस्खे गोरा होने के लिए में होता है उपयोग दहीं का| दही में चन्दन और बेसन और हल्दी का मिश्रण किया जा सकता है|

8.रंग साफ़ करने के घरेलु नुस्खे (rang saaf karne ke gharelu nuskhe in hindi) में नारंगी का छिलके का उपयोग करे| ताजा चिल्का हो तो कुचल के इस्तेमाल करे और सूखा हो तो उस को कूट के चूर्ण जैसा बनाये| अब यह चूर्ण दही में, निम्बू के रस के साथ, अंडे के सफ़ेद भाग के साथ या तो फिर अखरोट के छिलके के चूर्ण के साथ मिला के त्वचा को घिसते रहिये| खील के दाग़, आँखों के नीचे के काले धब्बे और अन्य ऐसे काले दाग़ निकल जायेंगे|

9.इसी प्रकार के समस्या में आप कच्चा पपीता को कुचल के उस का लेप चेहरे पर लगा सकते है| नारियल के छिलके के साथ भी यह त्वचा गोरा करने का प्रयोग किया जा सकता है|

10.टमाटर से चेहरा घिसे| ककड़ी या खीरे से चेहरा घिसे| दोनों ही चेहरे के रंग को सुधारने में मददगार होते हैं|
TAGS : #hatho ko gora karne ke gharelu nuskhe #gora hone ki cream #gora hone ke gharelu upay in hindi #गोरा होने का घरेलू उपाय #रंग गोरा कैसे करें #gore hone ke upay/tarike #gora hone ka tarika #rang gora karne ka tarika #face gora kaise kare in hindi #गोरे होने के नुस्खे #चेहरा गोरा कैसे करे #gora hone ke upay #rang gora karne ki cream #rang gora karne ke tips in hindi #gore hone ke upaye/tarika/tarike #baby ko gora kaise kare


होठों की देखभाल और लिपस्टिक टिप्स Lips Beauty Care And Lipstick Tips In Hindi

Lips Beauty Care And Lipstick Tips In Hindi – खूबसूरत गुलाबी होंठों की तुलना, अक्सर गुलाब की कोमल पंखुड़ियों से की जाती है | चेहरे का अहम हिस्सा, हमारे होंठ ही हैं |



लेकिन सर्द मौसम में होंठ कुम्हला जाते हैं और फटने लगते हैं | इन होठों की देखभाल कैसे करें, जिससे वे कोमल और इनकी रंगत गुलाबी बनी रहे, आइए जानते हैं |

1. यदि होंठ फटते हों तो नाभि पर तेल या देसी घी की कुछ बूंदें रात को सोते समय लगाएं |

2. कसे हुए नारियल का दूध निकालकर होठों पर लगाएं | इससे होठों का गुलाबीपन और कोमलता कायम रहती है |

3. होठों की सुंदरता बढ़ाने में लिपस्टिक का भी योगदान होता है | लिपस्टिक का चुनाव अपनी त्वचा के रंग और समय को ध्यान में रखते हुए करें | सांवली (डार्क) त्वचा पर रेड, मैरून, गोरी पर चेरी व गेहुएं (व्हीटिश) पर रेड, चेरी के पेल शेड्स अच्छे लगते हैं | आजकल पीच और ब्रांज शेड्स काफी पसंद किया जा रहा है | यह किसी भी प्रकार की रंगत पर फबते हैं |

4. आजकल सैटिन फिनिश मॉयस्चराइजर लुक चलन में है इसलिए लिपस्टिक का चयन भी उसी अनुरूप करें | लिपस्टिक लगाने से पहले एक शेड डार्क लिप पेंसिल का इस्तेमाल जरुर करें | उसके बाद लिपस्टिक से होठों को भरें |

5. यदि होठों को पतला दिखाना चाहतीं हैं तो थोड़ा बाहर की तरफ आउटलाइन बनाएं | अब लिप ब्रश की सहायता से आउटलाइन के भीतर लिपस्टिक लगाएं |

6. होठों को चमकदार दिखाना चाहती हैं तो, लिपग्लास का प्रयोग करें | यह होठों को नर्म-मुलायम बनाने में सहायक होता है |

7. सर्दियों में लिपस्टिक लगाने से पहले होठों पर मॉयस्चराइजर का इस्तेमाल करें | मॉयस्चराइजर लिपस्टिक को चमक देने के साथ उसे वाल्यूम भी देता है |

8. पतले होठों पर लाइट या नेचुरल शेड्स का इस्तेमाल करें | लिपस्टिक लगाने के बाद उस पर शिमर ग्लास लगाना न भूलें | शिमर ग्लास आपको पार्टी लुक देता है |


ताकि लंबे समय तक टिके How To Apply Lipstick – Tips In Hindi

1. यदि आप चाहती हैं कि आपकी लिपस्टिक ज्यादा समय तक टिके तो, लिपस्टिक लगाने से पहले होठों पर पाउडर या फाउंडेशन की पतली परत लगा लें | फिर लिपस्टिक लगाएं तो वह अधिक देर तक होठों पर टिकी रहेगी |

2. यदि आपके होठों की शेप आपकी चाहत के अनुकूल नहीं है तो आप होठों को शेप देने व लिपस्टिक लगाने के लिए लिप ब्रश का प्रयोग करें | सर्दियों में, बरगंडी और डीप पिंक जैसे बोल्ड कलर की लिपस्टिक भी लगा सकती हैं |

3. अत्यधिक चमक चाहती हैं तो लिपस्टिक के ऊपर लिप लैकर का प्रयोग करें |

4. आपके होंठ, ज्यादा भरे-भरे लगें, इसके लिए मैट लिपस्टिक का प्रयोग करें | मैट लिपस्टिक से होंठ न सूखें, इसके लिए लिप प्राइमर (Lip Primer) या लिप फिक्सेटिव (Lip Fixative) का प्रयोग करें |

5. मॉयस्चराइजर युक्त लिपस्टिक आपके होठों के रूखेपन को दूर भगाती है |

6. विटामिन ई युक्त कलर रिच सैटिन लिपस्टिक, होठों को मुलायम बनाने के साथ चमक भी प्रदान करती है |

7. अगर होठों को हाइलाइट करना चाहती हैं तो लिप कलर डार्क और आंखों का मेकअप मिनिमल रखें |

8. 8-9 घंटे लगातार लिपस्टिक लगाए रहने से होंठ रूखे हो जाते हैं | इसलिए लिपगार्ड या वैसलीन का प्रयोग नियमित रूप से करें |

Tags : How To Apply Lipstick,lipstick history in hindi,how to use lipstick for long time in hindi,lipstick making in hindi,makeup tips in hindi for summer,hoto ki sundarta in hindi,how to lips pink naturally in hindi,how to use lipstick and lip liner in hindi

सुंदरता बढ़ाने की आधुनिक विधि Modern Method Of Beauty In Hindi

सुंदरता बढ़ाने की आधुनिक विधि-

सुंदरता का अर्थ मानसिक व शारीरिक दोनों रूपों से स्वस्थ होना है। इसके लिए नित नए अनुसंधान हो रहे हैं। चेहरे व त्वचा की सुंदरता के लिए गोल्थ फेशियल व थमो हर्ब विधियां तो प्रचलित हैं हीं जिनमें क्रमश: सोने की परत व जड़ी-बूटियों की सहायता से चेहरे की त्वचा का विशेष उपचार किया जाता है।



सच्ची सुंदरता सुंदर दिखने के साथ-साथ सुंदर महसूस करने में भी होती है। पिछले कुछ वर्षों से भारतीय महिलाएं अपनी सुंदरता के प्रति जागरुक हुई हैं किंतु त्वचा व टेक्सचर के बारे में अभी भी जानकारी का अभाव है।

दिल्ली जैसे महानगरों में कई नई मशीने सौंदर्य बढ़ाने में मददगार हो रही हैं। इनमें स्टेट-आफ दी आर्ट मशीन के बारे में जानना आवश्यक है कि मिलेनिया नामक ब्यूटी क्लीनिक में उपलब्ध है। इस मशीन के तीन भाग होते हैं- ।

1.डायना : चेहरे की मांसपेशियों की प्रभावशाली व नान सर्जिकल टोनिंग के लिए होती है।
2.डर्मीकेयर : त्वचा के बेहतर उपचार के लिए।
3.नेमेसिस : बेहतर शारीरिक फिटनेस के लिए शरीर के तंतुओं की टोनिंग करता है।

बाल हटाने की नई तकनीक Hair Removal Techniques – Baal Hatane Ke Tarike

इलेक्ट्रिकल तरीकों से चेहरे की नाजुक नरम त्वचा पर दाग पड़ने का अंदेशा रहता है और रेजर व थ्रेडिंग स्थायी समाधान नहीं है। सॉफ्ट पिलएक बेहतरीन तकनीक है, जिसके द्वारा अनचाहे बालों की समस्या का समाधान किया जाता है। यह तकनीक पूर्णतः वैज्ञानिक है इससे चेहरे पर निशान पड़ने तथा दर्द की संभावना नहीं रहती।

इस तकनीक में मशीन के साथ जुड़ा ट्वीजर बाल को पकड़कर बिना दर्द किए जड़ से बाहर निकाल देता है। बालों को पूरी तरह निकालने में कितना समय लगेगा यह देखकर ही बतलाया जा सकता है। क्योंकि यह इस बात पर निर्भर करता है कि बाल सॉफ्ट हैं या हार्ड। हार्ड बालों की समस्या दूर करने में समय ज्यादा लगता है।

सौंदर्य वृद्धि के लिए कॉस्मेटिक सर्जरी Cosmetic Surgery For Beauty

प्रतिस्पर्धा के इस युग में कॉस्मेटिक सर्जरी सिर्फ फैशन ही नहीं, बल्कि जरूरत बनती जा रही है। कॉस्मेटिक सर्जरी की मदद से नाक को मनचाहा आकार दिया जा सकता है। जैसे चपटे और मोटे नाक तीखे और पतले बनाये जा सकते हैं। चेहरे में पड़ी झुर्रियाँ, सिकुड़न, ढीलापन, कील-मुंहासे या चेचक के दाग, सफेद दाग, चेहरे पर कटे या जले के दाग और आंखों के नीचे पड़े गहरे काले धब्बों को दूर करके चेहरे पर जवानी के दिनों की कांतियुक्त चमक एवं कसाव फिर से पैदा किए जा सकते हैं। गले पर पड़ी सिलवटों को दूर किया जा सकता है। बाल प्रत्यारोपण से गंजापन दूर किया जा सकता है। स्तन को बड़ा या छोटा किया जा सकता है। चेहरे पेट या स्तन के ढीलेपन को भी हटाया जा सकता है। चेहरे, पेट या जांघ पर जमी फिजूल चबी को हटाया जा सकता है। इस सर्जरी की सहायता से चेहरे से तिल के निशान को गायब किया जा सकता है। कटे-फटे होंठ और वजनदार बाली पहनने से फटे कान और बड़े छिद्र वाले कान भी ठीक किए जा सकते हैं। भौंह और पलकों में आए ढीलेपन को दूर किया जा सकता है। एक हद तक चेहरे के सांवलेपन को गोरा बनाया जा सकता है।

नोज प्लास्टी या राइनोप्लास्टी Rhinoplasty Surgery

चेहरे की सुंदरता में नाक ही चार चांद लगाती है, लेकिन नाक की बनावट में कई तरह की खामियाँ हो सकती हैं-जैसे नाक टेढ़ी, धंसी हुई या चपटी, अत्यधिक चौड़ी, पसरी या फैली हुई, अत्यधिक उठी हुई या पतली हो सकती है। इनमें से किसी भी खामी को राइनोप्लास्टी से दूर करके नाक को मनचाहा आकार प्रदान किया जा सकता है। चपटी, चौड़ी या फैली, पसरी या धंसी हुई नाक को बोन कार्टिलेज या सिलिकॉन प्रत्यारोपण से मनमाफिक आकार दिया जा सकता है। मोटी या थबरी नाक से हम्प रिडक्शनके सहारे फालतू ऊतकों (टिश्यू) को हटा कर उसे पतली किया जा सकता है और उसे सही आकार दिया जा सकता है। नाक का ऑपरेशन 16 साल की उम्र के बाद कभी भी किया जा सकता है, क्योंकि उस समय तक नासिका उतकों का पूर्ण विकास हो चुका होता है। यह ऑपरेशन नाक को सुन्न करके किया जाता है। इसके लिए एक दिन अस्पताल में रहने की जरूरत पड़ती है।

डर्माब्रेजन (फेस पीलिंग)

चेहरे पर उगे कील-मुंहासे, चेचक, चोट, जख्म या जलन आदि के दागधब्बों और सुंदरता बिगाड़ने वाले तिल और सफेद दाग को भी कॉस्मेटिक सर्जरी से हटाया जा सकता है। इसमें त्वचा की ऊपरी परत को हल्की सर्जरी से हटा दिया जाता है। इस सर्जरी में धातु और हीरे के ब्रश का इस्तेमाल किया जाता है। यह सर्जरी अक्सर बेहोश करके की जाती है। सर्जरी के बाद त्वचा को धूप से छह महीने तक बचाना पड़ता है। आजकल बेहतर नतीजों के लिए स्वचालित डर्माब्रेडर मोटर का इस्तेमाल किया जाता है। इससे चेहरे की त्वचा की झुर्रियों व रेखाओं को दूर किया जा सकता है। चेहरे के दागधब्बों या तिल को जब रसायन से हटाया जाता है तो इसे केमिकल फेस पीलिंग कहते हैं। जब इसे घोल कर हटाया जाता है तो इसे डर्माब्रेजन कहते हैं। जब इसे लेजर से हटाया जाता है तो इसे लेजर पीलिंग कहते हैं।

लाइपोसक्शन Liposuction Surgery For Weight Loss

छरहरा बदन हमेशा से ही सुंदरता का प्रतीक रहा है। लेकिन गलत खान-पान या रहन-सहन की वजह से शरीर के किसी खास हिस्से में अतिरिक्त वसा जमा हो जाता है, जो शारीरिक बनावट को कुरूप बना देता है। जब डायटिंग और व्यायाम की मदद से भी फिजूल वसा को हटाना मुश्किल हो जाता है तो लाइपोसक्शन विधि का सहारा लिया जाता है। इस विधि से शरीर के किसी खास हिस्से की स्थूलता को स्थायी तौर पर दूर किया जा सकता है।

चेहरे पर जमी चर्बी, गले की त्वचा के नीचे जमाव, जांघ, पेट, बांह या शरीर के किसी भी खास भाग में जमे अतिरिक्त वसा को भी लाइपोसक्शन विधि से हटाया जा सकता है। इसके अलावा कभी-कभी किसी कारणवश पुरुषों के वक्ष में अतिरिक्त वसा जमा हो जाता है। इसे भी लाइपोसक्शन से दूर किया जा सकता है।

लाइपोसक्शन विधि में शरीर के खास भाग में एक छोटा सा चीरा लगाकर उसके अंदर एक धातु की ट्यूब डाली जाती है। इसी ट्यूब के जरिए अतिरिक्त वसा को बाहर निकाल लिया जाता है। इस प्रक्रिया को मनचाहा आकार पाने तक जारी रखा जाता है। ऑपरेशन के दो हफ्ते बाद से व्यायाम प्रारंभ किया जा सकता है। यहा यह ध्यान रखने की जरूरत है कि लाइपोसक्शन मोटापा घटाने की विधि नहीं है।

कभी-कभी अपना वजन घटाने से या बच्चे को जन्म देने के बाद पेट की त्वचा काफी ढीली पड़ जाती है। पेट की मांसपेशियाँ भी सिकुड़ जाती है। पेट की ढीली त्वचा को कसने के लिए मामूली ऑपरेशन किया जाता है। इस ऑपरेशन में अतिरिक्त त्वचा को काट कर हटा दिया जाता है। कॉस्मेटिक सर्जरी की इस प्रकिया को एब्डोमिनोप्लास्टी या टमी टकिंग कहते हैं।

यदि किसी के पेट में काफी वसा जमा हो जाता है और किसी कारणवश पेट की त्वचा भी लटक जाती है तो उनके लिए लाइपोसक्शन और टमी टकिंग दोनों विधि का इस्तेमाल किया जाता है।

वक्ष की कॉस्टमेटिक सर्जरी Breast Surgery For Enlargement

अक्सर महिलाएं अपने स्तन के आकार को लेकर चिंतित रहती हैं। एक तरफ जहाँ छोटे आकार के स्तन होने से महिलाओं में हीन भावना और कुंठा पैदा हो जाती है तो दूसरी तरफ बहुत बड़े आकार के स्तन भी महिला के सौंदर्य को बिगाड़ देते हैं और कई तरह की समस्याएं उत्पन्न करते हैं। कॉस्मेटिक सर्जरी में सिलिकन अथवा पानी भरे इमप्लांट के इस्तेमाल से छोटे स्तन को मनचाहा आकार दिया जा सकता है। इससे न तो स्तन की स्वाभाविकता नष्ट होती है और न ही उस स्तन से बच्चे को दूध पिलाने में कोई दिक्कत होती है। स्तन के आकार को अपेक्षाकृत छोटा करने के लिए ऑपरेशन की सहायता ली जाती है। ऑपरेशन से स्तन में से अतिरिक्त वसा और त्वचा को निकाल दिया जाता है। कभी-कभी बड़े स्तन को छोटा करने के लिए दुग्ध नलिका को काटना पड़ता है। इस कारण माँ बनने के बाद ही स्तन के आकार को छोटा कराना चाहिए। इसके अलावा उम्र वृद्धि या मां बनने के बाद ढीले पड़ चुके लटके स्तन को भी कसा जा सकता है। कॉस्मेटिक सर्जरी से ढीले स्तनों को जवानी के दिनों की तरह के कसे हुए स्तन के समान बनाया जा सकता है।

बाल प्रत्यारोपण Hair Transplant Surgery

गंजे सिर वाला हमेशा उपहास का पात्र बनता है। खास कर गंजे सिर वाली महिलाओं की कल्पना मात्र से ही रूह कांप उठती है। अभी तक ऐसी कोई दवा ईजाद नहीं हुई है, जो गंजे सिर पर बाल उगा सके। लेकिन कॉस्मेटिक सर्जरी में बाल प्रत्यारोपण की मदद से गंजे सिर में भी बाल उगाए जा सकते हैं। ये बाल भी प्राकृतिक बाल की तरह ही काटने पर उगते और लम्बे होते हैं। बाल प्रत्यारोपण में सिर के पिछले हिस्से के बाल को जड़ से उखाड़कर गंजे सिर में प्रत्यारोपित कर दिया जाता है। इसके लिए तकरीबन तीन से चार ऑपरेशन की जरूरत पड़ती है। कॉस्मेटिक सर्जरी में भी अन्य सर्जरी की तरह ही खतरे से रूबरू होना पड़ता है। इसलिए कॉस्मेटिक सर्जन के पास जाने के पहले खुद को मानसिक रूप से तैयार कर लेना चाहिए। वैसे तो पुरुष या महिलाए किसी भी उम्र में कॉस्मेटिक सर्जरी करा सकते हैं, परन्तु 13-14 साल की उम्र के बाद जितन पहले संभव हो सके, कॉस्मेटिक सर्जरी ज्यादा फायदेमंद रहता है और इसके परिणाम जीवन पर्यन्त रहते हैं।

फेस लिफ्ट कॉस्मेटिक सर्जरी Face Lift Cosmetic Surgery

बहुचर्चित कॉस्मेटिक सर्जरी आज के समाज में एक आवश्यकता के रूप में स्थापित हो चुकी है। पर्दे पर नजर आने वाले हीरो-हीरोइन, टी.वी. आर्टिस्ट या फिर सभ्य समाज के लोग जो कि विचारधारा त्याग चुके हैं। ज्यादातर कॉस्मेटिक सर्जरी का सहारा लेकर अपने आप को अधिक सुंदर बना चुके हैं। ये आज के समय की.पुकार है। नाक को सुंदर बनाना, चर्बी निकालना, वक्ष सुंदरता, और चेहरे के ढीलेपन को दूर करना कुछ ऐसे आपरेशन हैं जोकि अत्यधिक अपनाए जा रहे हैं। उम्र बढ़ने के साथ-साथ इसका प्रभाव चेहरे पर जल्दी ही नजर आ जाता है। चिन्ताओं और परेशानियों से उलझे लोगों के चेहरे भी अपनी भाषा आप बोल देते हैं। चेहरे पर ढीलापन लिए लटके मुख के साथ इंसान हीन भावना का शिकार होकर इससे बाहर निकलने का रास्ता तलाश करता है। कॉस्मेटिक सर्जन उसे फेस लिफ्ट की सलाह देकर उसकी सहायता करता है। इस ऑपरेशन द्वारा चेहरे का ढीलापन. दूर करके कसावट प्रदान की जाती है। जिन जगहों में ढीलापन होता है, वहां पर से ढीलापन दूरकर कसकर फालतू चर्म काटकर पुनः स्थापित की जाती है। इससे गालों की, नाक के पास की, जबड़े के पास और गले का ढीलापन दूर हो। जाता है। मरीज की उम्र 10 वर्ष कम लगने लगती हैं। इस तरह व्यक्ति जवानी का अहसास और विश्वास पुनः प्राप्त कर लेता है। अांखों के ऊपर और नीचे के ढीलेपन को भी दूर किया जा सकता है।

एक्यूलेज़र

साफ, स्वस्थ और स्निग्ध त्वचा सौंदर्य का आधार है। लेकिन, अधिकतर लोग किसी-न-किसी त्वचा संबंधी समस्या का शिकार हैं। किसी के चेहरे पर एक्ने है, तो किसी को मुहांसों की समस्या ने घेरा है, तो कोई दागधब्बों और झुर्रियों से परेशान है। लेकिन, आज के वैज्ञानिक जमाने में हम त्वचा संबंधी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। एक आधुनिक तकनीक लेज़र थेरैपीद्वारा। इससे हम एक्ने, झुर्रियाँ, आंखों के नीचे का कालापन, दाग-धब्बे, चेचक के दाग आदि सभी समस्याओं से मुक्त हो सकते हैं।

लेजर दो प्रकार के होते हैं। रेड लेजर और येलो लेजर अलग-अलग त्वचा की समस्या में अलग-अलग लेजर का प्रयोग किया जाता है। दाग-धब्बे, आंखों के नीचे का कालापन येलो लेजरसे दूर किया जाता है। आंखों के नीचे की झुर्रियां और आंखों के किनारे की झुर्रियां भी येलो लेजर से ही दूर की जाती हैं। अगर नमी की कमी की वजह से झुर्रियाँ पड़ती हैं, तो सबसे पहले त्वचा से नमी की कमी को दूर करने के लिए यंग स्किन फेस मास्कएक तरह का कलोजन मास्क होता है। त्वचा का कलोजन जो प्रोटीन के पाइपल फार्म में होता है, उनके सिरे जब सूखने लगते हैं, तो त्वचा में झुर्रियां पड़ने लगती हैं। झुर्रियों को खत्म करने के लिए अगर कलोजन मास्क से उम्र का प्रभाव कम किया जा सकता है। लेजर और कलोजन मास्क 15 बार प्रयोग करने से अगर आप 35 वर्ष के हैं, तो आप 10 वर्ष कम नजर आ सकते हैं और 45 वर्ष हैं तो 6 वर्ष कम।

लेजर उपचार का सबसे ज्यादा फायदा एक्ने में होता है। दर्द वाला एक्ने हो या अन्य किसी तरह का, लेजर के सीधे प्रयोग से दो-चार बार में ठीक हो जाता है। चेचक के दाग, गड्डे और जली हुई त्वचा भी लेजर उपचार से सही हो जाती है। लेजर के प्रयोग से पुरानी खराब त्वचा नीचे दब जाती है | नई त्वचा आ बजती है चेहरा खूबसूरत नजर आने लगता है ।

आंखों के नीचे की फूली त्वचा को भी लेजर उपचार से दूर किया जा सकता है। आंखों के नीचे लिम्फ जमा हो जाने से आंखें सूज जाती हैं। लेजर से लिम्फ खत्म कर देने से सूजी हुई आंखें स्वस्थ हो जाती हैं। लेजर से सिर्फ चेहरे को ही खूबसूरत नहीं बनाया जाता है, बल्कि इससे बालों में होने वाली खुश्की को भी दूर किया जा सकता है। लेज़र के प्रयोग से खुश्की वाली त्वचा खत्म हो जाती है और नई त्वचा आ जाती है और कीटाणु भी मर जाते हैं। लेजर का प्रयोग आंखों पर चश्मा पहनकर किया जाता है। लेज़र से उपचार करने में किसी प्रकार के दर्द या तकलीफ का अहसास नहीं होता है और हमारी त्वचा पर कोई हानिकारक प्रभाव भी नहीं पड़ता।

लेज़र थेरैपी के अतिरिक्त एक और आधुनिक तकनीक आजकल त्वचा संबंधी बीमारियों का उपचार करने में प्रयोग की जा रही है-एक्यूलेज़रतकनीक। झुर्रियां, कील-मुहांसे, जलने के निशान, झाइयां, काले धब्बे आदि त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए सौंदर्य उपचारिकाएं एक्यूपंक्चरतकनीक प्रयोग में लाती हैं। हम बगैर किसी दर्द या तकलीफ के त्वचा की सभी बीमारियों का उपचार करते हैं, जबकि एक्यूपंक्चर विधि से इलाज करने में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। एक्यूपंक्चरतकनीक में बीमारी का ईलाज सुई द्वारा किया जाता है, इसलिए एक्यूपंक्चरविधि में दर्द का सामना भी करना पड़ता है। जो सुई इस्तेमाल में लाई जाती है, वो भी चांदी की होती है। सुई हर बार नई खरीदनी पड़ती है। इस वजह से खर्च ज्यादा होता है। इन सब बातों के अतिरिक्त एक्यूपंक्चरसे त्वचा रोग का जड़ से नाश नहीं होता, जबकि एक्यूलेज़र में हमें इन परेशानियों का सामना नहीं करना पडता.

एक्यूलेज़रतकनीक से उपचार करने में सबसे पहले एक आधुनिक मशीन पाइंट डिटेक्टरको त्वचा के ऊपर घुमाकर यह पता लगाया जाता है कि आंतरिक रोग किस स्थान पर है। इसके बाद उपचार शुरू किया जाता है। इस तकनीक से उपचार करते समय किसी प्रकार का दर्द नहीं होता है और रोग भी समूल नष्ट हो जाता है। इसके अलावा एक्यूलेज़रसे साइड इफेक्ट का खतरा भी नहीं रहता। आपकी त्वचा भी स्वच्छ, कोमल और पारदर्शी हो जाती है।

एक्यूलेज़रसे आप अपनी आयु से पांच से दस वर्ष तक कम भी नजर आ सकते हैं।

Tags: beauty tips in hindi for glowing skin,beauty tips in hindi for face in summer,ayurvedic beauty tips in hindi,skin care tips in hindi at home,beauty tips in hindi for oily skins,beauty tips in hindi,beauty tips in hindi video,6 important tips for glowing skin hindi

Internet

5/cate3/Internet

Contact Form

Name

Email *

Message *