आज ही के दिन US कमांडो ने घर में घुसकर मारा था लादेन को

आज के ही के दिन, 7 साल पहले आतंक का दूसरा नाम बन चुके ओसामा बिन लादेन को अमेरिका के जाबांज नेवी सील कमांडो ने मौत के घाट उतारा था. 2 मई 2011 को आतंकी संगठन अल कायदा का सरगना लादेन तब पाकिस्तान के एबटाबाद स्थित ठिकाने पर था. अफगानिस्तान के जलालाबाद से नेवी सील कमांडोज एबटाबाद पहुंच गए थे और लादेन को मार गिराया था.



एक पूर्व कमांडो रॉबर्ट ओ-नील के मुताबिक- 'हमारे लिए न वक्त अच्छा था और न माहौल. घर में घुसते ही एक हेलिकॉप्टर क्रैश कर गया. दूसरे हेलिकॉप्टर को उतारा गया, लेकिन उसमें तेल कम बचा था. आधे घंटे में ऑपरेशन खत्म करने की मजबूरी थी.'


ऑपरेशन को बेहद खुफिया ढंग से चलाया गया था. अमेरिकी कमांडोज की ओर से चलाए गए अन्य मिशन के मुकाबले लादेन को मारने की कार्रवाई बेहद कठिन थी.
पूर्व कमांडो रॉबर्ट ओ-नील के मुताबिक, मौत को सामने देखकर लादेन डर गया था. उसे अहसास हो गया था कि कमांडो उन्हें मारने आए हैं.

लादेन के ऊपर कार्रवाई करने का आदेश ओबामा प्रशासन ने दिया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, कार्रवाई के वक्त ओबामा अपने अधिकारियों के साथ घटना पर लाइव नजर रख रहे थे.
मौत के वक्त लादेन की उम्र करीब 54 साल थी. लादेन की मौत के बाद अमेरिकी मीडिया रिपोर्टो में यह खुलासा हुआ था कि लादेन पॉर्न एडिक्ट था.


लादेन के घर से जो सामान बरामद किए गए उनमें उसका लैपटॉप और कंप्यूटर भी शामिल था. इन्हीं कंप्यूटर्स के कैचे से सीआईए को काफी जानकारियां मिली थीं.

0/Post a Comment/Comments

Sponsor