ये 5 जगहें अक्टूबर-नवंबर में घूमने-फिरने के लिए बेस्ट हैं

अक्टूबर-नवंबर के महीने में कई त्योहार मनाए जाते हैं. इसी दौरान ठंड भी दस्तक देती है. माहौल खुशनुमा होता है और सैलरी अकाउंट में 'फेस्टिवल बोनस' का भी आगमन इसी दौरान होता है. यही वजह है कि ट्रिप पर निकलने के लिए लोग इस वक्त का बेसब्री से इंतज़ार करते हैं.
भारत में छुट्टियां मनाने के लिए बेहतरीन जगहों की कमी नहीं है. रेगिस्तान से लेकर बर्फीली जगहों तक और पहाड़ों से लेकर खूबसूरत बीच तक, सब कुछ इस देश में मौजूद है. ऊपर से भारत की विविधता हर दो कोस पर इसे नया रंग देती है. तो अगर इस त्योहारी मौसम आप भी ट्रिप प्लान कर रहे हैं, तो इन 5 जगहों को अपनी लिस्ट में शामिल ज़रूर करें...

1. कच्छ का रन
कच्छ में सफर करते समय आपको दूर तक नमक के मैदान नज़र आएंगे. रात में चांद की दूधिया रौशनी में इसका नज़ारा बेहद रोमांटिक होता है. नवंबर में यहां कच्छ महोत्सव का भी आयोजन किया जाता है. यहां एसी और नॉन एसी कैंप्स की भी व्यवस्था है. स्थानीय व्यंजन और संगीत के साथ यहां सुकून के वक्त बिताना बढ़िया फैसला साबित होगा.

2.दार्जलिंग
उत्तरी पश्चिम बंगाल में मौजूद दार्जलिंग को पहाड़ों की रानी भी कहा जाता है. चाय के बगान, मोनास्ट्रीज़, टॉय ट्रेन की सवारी, ब्रिटिश काल का आर्किटेक्चर, रॉक गार्डेन और बर्फ की चादर में लिपटा कंचनजंगा पर्वत इस जगह को बेस्ट हॉलीडे डेस्टिनेशन बनाते हैं.

3.वर्कला बीच
वर्कला, दक्षिणी केरल में ऐसी एकमात्र जगह है जहां ऊंची चट्टानें अरब सागर से सटे मिलती हैं. यानी यहां पर्वत और सागर का लुत्फ एक साथ उठाया जा सकता है. यह सन बाथिंग और स्विमिंग के लिए बेस्ट स्पॉट है. लोग यहां वाटर स्पोर्ट्स और स्पा के मज़े लेने भी आते हैं. इसे पापनाशम बीच भी कहते हैं क्योंकि पहले यह जगह एक हिंदू प्रथा की वजह से भी प्रसिद्ध थी. सूर्यास्त के वक्त यहां के बीच पर मनोरम दृश्य देखने को मिलते हैं.

4.जीरो
अरुणाचल प्रदेश के जीरो का केवल नाम ही नहीं, बल्कि यहां के नज़ारे भी बिलकुल अलग है. हरे धान और पेड़-पौधों से ढंके पर्वतों के बीच बसे इस जगह में मुख्यत: अपा तानी कबीले के लोग रहते हैं. भागदौड़ वाली ज़िंदगी से दूर, सुकून भरे पल बिताने और मेडिटेशन के लिए जीरो परफेक्ट डेस्टिनेशन है.

5.जोधपुर
अक्टूबर-नवंबर के दौरान जोधपुर घूमने के लिए सबसे बढ़िया वक्त है क्योंकि इस वक्त न तो सूरज की तेज़ तपिश होती है न ही सर्द हवाओं कि ठिठुरन. गुलाबी ठंड जैसे खुशगवार मौसम में डेज़र्ट सफारी, किलों की सैर और यहां के तीखे-चटपटे पकवानों का लुत्फ उठाने का अलग मज़ा है. यहां मौजूद मेहरानगढ़ किले में 'वीर', 'डोर', 'आवारपन', 'शुद्ध देसी रोमांस', 'द डार्क नाइट राइजेज' समेत कई फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है. अक्टूबर में यहां होने वाला राजस्थान इंटरनेशनल फोक फेस्टिवल दुनियाभर में मशहूर है.

0/Post a Comment/Comments

Sponsor