इस गर्मी में करें पहाड़ों की सैर, ये हैं भारत के 10 बेस्ट हिल स्टेशन

गर्मी का मौसम है और जल्द ही बच्चों की छुट्टियां भी पड़ जांएगी, ऐसे मौके पर आप बदन जलाती गर्मी से राहत पाने के लिए पहाड़ों का रुख कर सकते हैं. वैसे भी आजकल की चिलचिलाती धूप में आप एसी से बाहर तो निकल नहीं सकते हैं, तो बेहतर है अपना बैग पैककर किसी हिल स्टेशन पर निकल जाएं.
अब अगर आप ये फैसला नहीं कर पा रहे हैं कि कौन सी जगह आपके घूमने के लिए सही रहेगी, तो हम आपकी समस्या का समाधान कर देते हैं. हम आपको बता रहे हैं भारत के उन 10 बेहतरीन हिल स्टेशनों के बारे में, जहां जाकर आप जमकर मस्ती कर सकते हैं.

1. कश्मीर
दिल्ली से करीब 800 किलोमीटर दूर कश्मीर गर्मी के मौसम में छुट्टी मनाने के लिए बेहतरीन जगह है. श्रीनगर की खूबसूरती हमेशा से लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती रही है. पहाड़, गार्डन और डल लेक पर खड़े हाउसबोट इतने बेहतरीन हैं कि आप एक बार यहां चले जाएं तो बार-बार जाने का दिल करेगा.
कश्मीर जाने के लिए ट्रेन, फ्लाइट या सड़क मार्ग, आपके पास तीनों ऑप्शन मौजूद हैं. इसके अलावा वहां ठहरने के लिए फाइव स्टार होटल से लेकर कई बजट होटल भी आसानी से उपलब्ध हो जाएंगे.

2. मनाली
पहाड़ों के बीच में बसा मनाली अपनी खूबसूरती के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है. हर साल लाखों सैलानी यहां आते हैं. दिल्ली से मनाली की दूरी 600 किलोमीटर है. दिल्ली, शिमला और चंडीगढ़ से मनाली के लिए हिमाचल परिवहन निगम की बसें चलती हैं. साधारण किराया 480 रुपए, डीलक्स बस का किराया 850 रुपए है.

इसके अलावा आपको अपने बजट के हिसाब से होटल भी मिल जाएंगे. अगर आप लग्जरी होटल में रहना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको 5 से 15 हजार रुपए तक एक दिन के चुकाने होंगे. अगर आप सस्ते होटल में रहना चाहते हैं तो आपको यहां हजार रुपए तक के बजट में भी आसानी से होटल मिल जाएंगे. मनाली जाने का सबसे अच्छा समय मार्च से सितंबर होता है. यहां आप स्कीइंग, ट्रैकिंग और राफ्टिंग का मजा ले सकते हैं. मनाली से थोड़ी दूरी पर बसा रोहतांग पास पर्यटकों को काफी लुभाता है.

3. शिमला
दिल्ली से शिमला के लिए हवाई यात्रा की भी सुविधा है. रेल मार्ग से जाना चाहें तो नैरोगेज लाइन कालका से शिमला तक जाती है. यहां पहुंचने के लिए दो तरह की टॉय ट्रेन का मजा भी लिया जा सकता है.
ठहरने के लिए 7 स्टार होटल से लेकर सस्ते होटल और गेस्ट हाउसों के साथ निजी गेस्ट हाउस भारी संख्या में हैं. वैसे आप किसी ट्रैवल कंपनी से पैकेज भी ले सकते हैं जो आपको 10 हजार रुपए तक मिल जाएंगे.

4. नैनीताल
नैनीताल तीन ओर से घने पेड़ों की छाया में ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों के बीच समुद्रतल से 1938 मीटर की ऊंचाई पर बसा है. नैनीताल अपनी झीलों के लिए मशहूर है. कहा जाता है कि एक वक्त यहां 60 से ज्यादा झीलें हुआ करती थीं. यहां चारों ओर खूबसूरती बिखरी है. सैर-सपाटे के लिए कई जगह हैं.
नैनीताल का नजदीकी रेलवे स्टेशन यहां से सिर्फ 34 किमी दूर काठगोदाम में है. काठगोदाम से नैनीताल के लिए राज्य परिवहन की गाड़ियां दिन में हर समय उपलब्ध रहती हैं. इसके अलावा आप प्राइवेट टैक्सी भी बुक कर सकते हैं. ठहरने के लिए यहां होटल हर बजट में मौजूद हैं. अगर आप कोई टूर पैकेज लेते हैं तो वो आपको 6500 रुपए में आराम से मिल जाएगा.

5. मसूरी
उत्तराखंड में बसे मसूरी को पहाड़ों की रानी भी कहा जाता है. मसूरी का कैंप्टी फॉल, लेक मिस्ट, संतरा देवी मंदिर, म्युनिसिपल गार्डन, चाइल्डर्स लॉज, गन हिल, मसूरी झील, मशहूर हैं. मसूरी भारत के कई शहरों के सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है. यूपी राज्य परिवहन, सेमी लग्‍जरी, लग्‍जरी बसें मसूरी तक उपलब्ध हैं.
इसके अलावा अगर आप फ्लाइट से जाना चाहते हैं तो नजदीकी एयरपोर्ट देहरादून में है, जो यहां से 32 किलोमीटर की दूरी पर है. इसके अलावा यहां हर क्लास के होटल मिल जाएंगे. अगर आप सस्ते होटल में ठहरना चाहते हैं तो आपको 800 रुपए में भी कमरा मिल जाएगा.

6. दार्जलिंग
दार्जलिंग पश्चिम बंगाल में बसा बेहद खूबसूरत हिल स्टेशन है. पुराने और नए भवन का मेल इस शहर को सुंदर बनाता है. दार्जलिंग की चाय और टॉय ट्रेन काफी फेमस है. टॉय ट्रेन से आप पूरे दार्जलिंग के खूबसूरत नजारों का लुत्फ उठा सकते हैं.
दार्जलिंग पश्चिम बंगाल के प्रमुख हिस्सों से जुड़ा हुआ है. अगर आप फ्लाइट से जाना चाहते हैं तो नजदीकी एयरपोर्ट बागडोगरा है, यहां से दार्जलिंग 68 किलोमीटर है. वहां जाने के लिए आपको टैक्सी लेकर जाना होगा. अगर आप ट्रेन से जाना चाहते हैं तो आपको जलपाईगुड़ी जाना पड़ेगा, वहां से आप टॉय ट्रेन से दार्जिलिंग जा सकते हैं.

7. शिलाॉन्ग
मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग एक खूबसूरत हिल स्टेशन है. इसकी खूबसूरती के कारण भारत का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है. शिलाॉन्ग में पूरी दुनिया का सबसे ऊंचा वॉटरफॉल है, जिसे देखने दुनियाभर से लोग आते हैं. शिलांग से 35 किलोमीटर दूर अमरोही एयरपोर्ट है, वहां से आप प्राइवेट टैक्सी बुक कर शिलांग जा सकते हैं.

8. मुन्नार
मुन्नार भारत के फेमस हिल स्टेशनों में से एक है, यहां के चाय बागान भारत में सबसे ऊंचाई पर स्थित चाय बागान हैं. कहा जाता है कि यहां भारत की सबसे जायकेदार चाय का उत्पादन होता है. शोर-शराबे से दूर इस शहर में जाकर आपको काफी सुकून मिलेगा. मुन्नार पहुंचने के लिए नजदीकी रेलवे स्टेशन तेनी है, जो यहां से लगभग 60 किमी दूर है जबकि चेंगनचेरी, लगभग 93 किमी दूर है.
अगर आप फ्लाइट से जाना चाहते हैं तो मदुरई जाना होगा जो करीब 140 किमी दूर है. अगर आप कोई टूर पैकेज लेते हैं तो आपको तीन दिन के लिए 15 हजार तक देने होंगे.

9. कुर्ग
कुर्ग कर्नाटक में बसा है, यहां के पहाड़, हरे भरे वन बहुत आकर्षक हैं. मैसूर से 120 किलोमीटर दूर स्थित कुर्ग को कोडागू भी कहा जाता है. ये चाय और कॉफी के लिए फेमस है. इसके अलावा शहद, अंजीर, मसाले, इलायची, काली मिर्च और सिल्क साड़ियां भी काफी मशहूर हैं. यहां से नजदीकी एयरपोर्ट मैंगलोर का है जो 135 किलोमीटर दूर है वहीं बेंगलुरु एयरपोर्ट 250 किलोमीटर है. नजदीकी रेलवे स्टेशन मैसूर का है जो यहां से 120 किलोमीटर की दूरी पर है, वहां से आपको टैक्सी लेनी होगी.

10. ऊटी
तमिलनाडु में नीलगिरि की पहाड़ियों में बसा ऊटी बेहद खूबसूरत है. यहां साल भर मौसम सुहाना बना रहता है. ऊटी में हॉर्स राइडिंग, माउंटेन बाइकिंग और ट्रेकिंग का मजा ले सकते हैं. ऊटी या ऊट कमंडलम पहुंचने के लिए कोयंबटूर निकटतम हवाई अड्डा है, जो ऊटी से 90 किलोमीटर दूर है. सड़क मार्ग से जाना चाहें तो यह तमिलनाडु और कोयंबटूर के सभी मार्ग से जुड़ा हुआ है. ऊटी में सैकड़ों होटल हैं, आप अपनी जेब के हिसाब से पसंद कर सकते हैं. यहां 300 रुपए से लेकर 25 हजार रुपए प्रतिदिन तक के किराए वाले होटल मिल जाएंगे.

0/Post a Comment/Comments

Sponsor