Breaking News

6/breakingnews/random

ये 5 जड़ी बूटियां तेजी से बढ़ाती हैं वजन, नहीं होते कोई साइड इफेक्ट्स

No comments
Ayurveda Treatment of Weight Gain in Hindi : एक ओर जहां आज की तारीख में 80 प्रतिशत लोग ओबेसिटी की चपेट में घिरे होने के चलते वजन घटाने के लिए मजबूर है वहीं एक तबका ऐसा भी है जो वजन बढ़ाना चाहते हैं लेकिन बढ़ता नहीं है। असल में, वजन बढ़ाना और सही प्रकार से वजन बढ़ाना, दोनों बिलकुल अ‍लग बाते हैं। अगर आपका वजन कम है और आप उसे सही प्रकार से बढ़ाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको कुछ कारगर उपायों को आजमाना होगा। अधिकतर लोग वजन कम करने की चुनौती से जूझते हैं। लेकिन, कई लोग ऐसे भी होते हैं, जिनकी समस्‍या इससे ठीक विपरीत होती है। आज हम आपको वजन बढ़ाने के लिए कुछ जड़ी बूटी बता रहे हैं। यकीन मानिए ये वाकई में फायदा करती हैं—
  • अश्वगंधा एक रसायन या टॉनिक है जो रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है। इसे खाने से भूख बढती है और पाचन क्रिया अच्छी होती है। यह तनाव समाप्त करता है। 
  • वजन बढाने के लिए किरात बहुत ही अच्छी औषधि है। यह खाने में कडवी होती है। इसका सेवन करने से भूख बढती है। इसके अलावा पेट की समस्या जैसे– अपच या अन्य विकार इससे समाप्त होते हैं। किरात का प्रयोग छोटी आंत के एंजाइमों में स्राव, गैस्ट्रिक स्राव और पित्त की समस्या के लिए प्रयोग किया जाता है। 
  • यह मोटापा बढाने के लिए बहुत ही फायदेमंद जड़ी है। इसका सेवन करने से प्रजनन करने वाले अंग और मांसपेशियां मजबूत होती हैं। सत्वारी कल्प आंखों को रोशनी भी बढती है। 
  • कैमोमाइल का सेवन करने से भूख बढती है। खाने में यह कडवी नहीं होती है। कैमोमाइल का सेवन बहुत पहले से खाने को अच्छी तरह से पचाने के लिए किया जाता था। इसके अलावा कैमोमाइल कैंसर के रोगियों के लिए भी बहुत ही कारगर औषधि है। पतले लोगों के लिए यह औषधि बहुत ही उपयोगी है। इसे खाने से दिमागी चिंता और तनाव भी समाप्त होता है।
  • च्यवनप्राश शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद हर्बल टॉनिक है। च्यवनप्राश का प्रयोग सभी उम्र के लोग कर सकते हैं। इसे हर रोज खाने से शरीर को ऊर्जा मिलती है और मेटाबॉलिज्म में सुधार होता है। च्यवनप्राश में कई जडी बूटियों का मिश्रण होता है। दूध के साथ और जूस के साथ इसका सेवन करने से शरीर को प्राकृतिक ताकत मिलती है।
  • अदरक खाने में बहुत ही तीखा होता है। अदरक बहुत ही पुरानी और आसानी से मिलने वाली औषधि है। इसका प्रयोग पहले से भी पाचन क्रिया को ठीक रखने के लिए के लिए किया जाता था। सूखे अदरक को गुड के साथ मिलाकर खाने से ठंड और पेट में दर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। अदरक खाने से रक्त संचार भी बढता है। अदरक का प्रयोग भूख न लगना, अपच, पेट फूलना और मितली में किया जाता है। ठंड से बचाव के लिए अदरक बहुत ही फायदेमंद है।
Also Read It:

No comments

Post a Comment

Internet

5/cate3/Internet

Contact Form

Name

Email *

Message *