Thursday, 20 September 2018

क्यों समय से पहले ही सफेद हो जाते हैं बाल? जानिए

क्यों समय से पहले ही सफेद हो जाते हैं बाल? जानिए

क्यों समय से पहले ही सफेद हो जाते हैं बाल? जानिए
Thursday, 20 September 2018
बालों का सफ़ेद होना एक प्राकृतिक और अपरिवर्तिनिय प्रक्रिया है, जो बढ़ती उम्र के साथ जुड़ा है। हमारे बालों का काला रंग सिर के रोमछिद्रों में मौजूद मेलेनिन कोशिकाओं के निर्माण पर निर्भर करता है।
उम्र बढ़ने के साथ-साथ, हारमोंस में बदलाव होने के कारण, त्वचा में मेलेनिन कोशिकाओं का बनना बंद हो जाता है। फलस्वरूप, 40 वर्ष तक की आयु तक पहुँचने पर बालों का रंग सफ़ेद होना स्वाभाविक है। किन्तु समस्या तब होती है, जब बाल युवावस्था में ही सफ़ेद होने लगते हैं।

असमय बाल सफ़ेद होने के वैज्ञानिक कारण
• बालों का सफ़ेद होना अनुवांशिक (जेनेटिक) कारण पर भी निर्भर करता है। यदि किसी बच्चे के माता-पिता के बाल कम उम्र में सफेद होते हैं, तो बच्चे के बाल भी समय से पूर्व सफ़ेद होने लगते हैं।
• आहार के अभाव में, शरीर में मेलेनिन कोशिकाओं के निर्माण के लिए आवश्यक कॉपर, आयोडीन, प्रोटीन, आयरन एवं विटामिन बी की कमी हो जाती है। इस कारण भी कभी-कभी बाल समय से पूर्व सफ़ेद होने लगते हैं।

 • लम्बी बिमारी जैसे टाइफाइड, मलेरिया आदि के कारण एवं हार्मोन के असंतुलन की वजह से त्वचा में मेलेनिन कोशिकाओं का निर्माण बाधित हो जाता है, फलस्वरूप बाल समय से पूर्व सफ़ेद होने लगते हैं।

• शारीरिक व्यायाम के बजाय डाइटिंग करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है, जिसके कारण बाल युवावस्था में ही सफ़ेद होने लगते हैं।

• धूम्रपान एवं नशीले पदार्थों का सेवन करने का चलन युवाओं के बीच बढ़ता जा रहा है, जिसका विपरीत प्रभाव स्वास्थय पर पड़ता है और बाल समय से पूर्व सफ़ेद होने लगते हैं।

• थायरोइड ग्लैंड के स्त्राव में कमी या अधिकता होने पर शरीर में आयोडीन की मात्रा असंतुलित हो जाती है। इससे मेलेनिन कोशिकाओं का निर्माण प्रभावित होता है। फलस्वरूप, इस रोग से पीड़ित लोगों के बाल समय से पूर्व ही सफ़ेद होने लगते हैं।

असमय बालों को सफ़ेद होने से रोकने के उपाय

• संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए। भोजन में हरी सब्जियों और फलों को ज़रूर शामिल करें। इनमें विटामिन, प्रोटीन, आयरन, कॉपर की मात्रा भरपूर होती है। आयोडीन एवं प्रोटीन से भरपूर सोयाबीन, अंडे आदि का सेवन करने से बालों के असमय सफ़ेद होने की समस्या पर काबू पाया जा सकता है।

• कैमिकल युक्त हेयर डाई के प्रयोग से बचें।  प्राकृतिक तत्त्वों जैसे मेहंदी, चुकंदर एवं गुड़हल के फूल  से बालों को रंगकर  बालों की सफ़ेद होने की समस्या से बचा जा सकता है।

• बालों के सफ़ेद होने की समस्या से बचने के लिए तेज धूप एवं वायु प्रदूषण में बालों को स्कार्फ से ढककर रखना चाहिए।

• प्याज के रस से बालों और खोपड़ी की मालिश करके बालों को सफेद होने से रोका जा सकता है।

• कढ़ी पत्ते को नियमित रूप से खाने में शामिल करें। साथ ही, नारियल के तेल में कढ़ी पत्ते के अर्क को मिलाकर गुनगुना करके सर और बालों की  मालिश करें। इससे असमय होने वाली सफ़ेद बालों की समस्या से निजात पाया जा सकता है।
क्यों समय से पहले ही सफेद हो जाते हैं बाल? जानिए
4/ 5
Oleh

Newsletter via email

If you like articles on this blog, please subscribe for free via email.