Breaking News

6/breakingnews/random

What is E SIM technology? जानिए E SIM कैसे और किस डिवाइस में कम करती है!

No comments
हैलो दोस्तों Hinditipszone.com में आपका स्वागत है। आज हम आपको बताने जा रहे है E Sim Kya Hai यदि आप भी E Sim का प्रयोग करना चाहते है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये है। आज की पोस्ट के द्वारा आपको हम E Sim Card की पूरी जानकारी देंगे।
E Sim Technology के बारे में भी आज आप इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। और हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। और इसी तरह आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली सारी पोस्ट पसंद करते रहे।
आज प्रत्येक व्यक्ति स्मार्ट-फोन का प्रयोग करता है। और सभी के मोबाइल में किसी ना किसी कंपनी की सिम होती है, जिससे वह उस नेटवर्क का लाभ ले सके। सिम कार्ड में एक नंबर भी रहता है और एक सिक्यूरिटी-की भी रहती है जिसके द्वारा नेटवर्क को पता रहता है की उस सिम का इस्तेमाल किस व्यक्ति के द्वारा किया जा रहा है।
अब सिम का साइज़ भी छोटा कर दिया गया है। जिसे हम मिनी सिम या माइक्रो सिम के नाम से भी जानते है। इसका कारण यह भी है की स्मार्ट-फोन को अब और भी पतला कर दिया गया है। जिस वजह से इसमें बड़ी सिम के लिए जगह नहीं होती है। अब स्मार्ट-फोन में नई-नई तकनीक का प्रयोग किया जाने लगा है और अब E Sim भी प्रयोग में लायी जा रही है।

E Sim Kya Hai
एप्पल ने नए Iphone में डिजिटल सिम को जोड़ा है जिसे E Sim कहते है। यह एक वर्चुअल सिम होती है। इसे मोबाइल में नहीं लगाया जा सकता है। E Sim के द्वारा भी सिम की तरह ही सारी सुविधाओं का लाभ लिया जा सकता है।

E Sim फ़ोन में पहले से ही Installed रहती है। यानी की आप E Sim को निकाल नहीं सकते। तथा इसे आप सभी डिवाइस में नहीं लगा सकते। E Sim को टेलीकॉम कंपनी द्वारा Activate किया जाता है। और अगर कभी आप ऑपरेटर बदलते है तो आपको सिम कार्ड नहीं बदलना पड़ता है और ना ही E Sim के लिए स्मार्ट-फोन में सिम कार्ड स्लॉट की जरुरत होती है।

अगर कोई अपनी सिम बदलकर दूसरी सिम खरीदना चाहता है तो आपको इसके लिए कोई दूसरी नई सिम नहीं खरीदना होगी और उसके मोबाइल में E Sim डाल दी जाएगी और E Sim को Update कर दिया जाएगा।

E Sim Full Form
EMBEDDED SUBSCRIBER IDENTITY MODULE

कैसे काम करती है E Sim
E Sim कुछ इस प्रकार की तकनीक है जो माइक्रो सिम से भी बहुत ज्यादा छोटी होती है। तथा इसके द्वारा किसी स्मार्ट-फोन से सिम ट्रे को हटा दिया जाता है। आने वाले समय में सिम ट्रे को स्मार्ट-फोन से पूरी तरह से हटा दिया जाएगा।

इसमें उपयोगकर्ता आसानी से नेटवर्क के बीच स्विच कर सकता है। तथा इसमें रोमिंग का कोई शुल्क नहीं होता। भविष्य में इस तकनीक का स्मार्ट-फोन में ज्यादा इस्तेमाल किया जाने लगेगा।

किस डिवाइस में काम करेगी E Sim
E Sim Card को Iphone Xs और Xs Max में लाँच किया गया है। इसे उपयोगकर्ताओं द्वारा बहुत ही पसंद किया जा रहा है। E Sim फ़िलहाल 10 देशों में सपोर्ट कर रही है। तथा कुछ ही समय में बहुत से देशों में यह सेवा उपलब्ध करा दी जाएगी।

E Sim India
भारत में E Sim Iphone एप्पल वॉच सिरीज़ 3 ऐसा पहला स्मार्ट डिवाइस है जिसमें E Sim का प्रयोग किया गया है। E Sim Card India में बस दो ही Network Provider को सपोर्ट करती है Jio और Airtel अभी फ़िलहाल किसी ऑपरेटर ने इसकी शुरुआत नहीं की है।

ज्यादातर उपयोगकर्ता अभी फिजिकल सिम का ही इस्तेमाल कर रहे है। भारत में आने वाले समय में इसका इस्तेमाल होना शुरू हो जाएगा। जब सभी टेलिकॉम ऑपरेटर यह सुविधा अपने फोन में देने लगेंगे।

फिजिकल सिम कार्ड और E Sim Card में अंतर
अगर आप अपना नेटवर्क बदलना चाहते है तो आपको टेलीकॉम ऑपरेटर स्टोर पर जाना होगा और सिम कार्ड लेना होगा। उसके बाद जब तक वह एक्टिव नहीं हो जाती उसका इंतजार करना होगा।

लेकिन E Sim के लिए आपको टेलीकॉम ऑपरेटर स्टोर नहीं जाना होता है बस आपको कस्टमर केयर से बात करनी होती है और आपको एक यूज़र आई-डी और पासवर्ड दिया जाता है जिसके द्वारा आप अपना नया नेटवर्क एक्टिवेट करवा सकते है।

E Sim Card के फ़ायदे

  • अगर आप E Sim का इस्तेमाल करते है तो इसके बहुत सारे फायदे प्राप्त होते है। आगे जानते है E Sim के फ़ायदों के बारे में:

  • इसका सबसे अच्छा फायदा यह होता है की यह साइज़ में Nano Sim Card के एक टुकड़े की साइज़ का होता है।
  • इसकी बैटरी लाइफ भी ज्यादा होती है। E Sim में फिजिकल सिम के मुकाबले स्मार्ट-फोन की बैटरी की खपत होने की क्षमता कम होती है।
  • अगर आप सिम पोर्ट करना चाहते है तो आपको 7 दिनों का इंतजार भी नहीं करना होगा आप अपने ऑपरेटर को तुरंत बदल सकते है।
  • इसमें Remote Provisioning की सुविधा भी उपलब्ध रहती है, जिससे की आपको पुराने सिम को डीएक्टिवेट करने के लिए इंतजार नहीं करना होगा E Sim को आसानी से Activate कर सकते है।
  • फिजिकल सिम कार्ड को बदलने में समय भी लगता है लेकिन E Sim होने से यह समय बच जाता है।

आज की पोस्ट के माध्यम से आपने जाना की E Sim Kya Hai और साथ ही हमने आपको E Sim का Full Form भी बताया आशा करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने फ्रेंड्स को भी दे। तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट E Sim Kya Hai ज़रुर शेयर करे। जिससे और भी ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके। हमारी पोस्ट What Is Esim In Hindi में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है इस पोस्ट से सम्बन्धित तो आप कमेंट करके हमसे पूछ सकते है। हमारी टीम आपकी मदद ज़रुर करेगी।

No comments

Post a Comment

Internet

5/cate3/Internet

Contact Form

Name

Email *

Message *