Bhai Dooj Shayari,Sms And Quotes | Hindi

आरती की थाली मैं सजाऊँ
कुमकुम और अक्षत से तिलक लगाऊं
तेरे उज्जवल भविष्य की कामना में करूँ
कभी न तुझ पर आएं संकट
ऐसी प्रार्थना मैं सदा करूँ
भाई दूज की शुभकामनाएं
******@******
Bhai Dooj Shayari,Sms And Quotes | Hindi
******@******
भाई दूज का है ये त्यौहार
लाए बहन खुऊब सारा प्यार
सदा सलामत रहे भाई मेरा
सुख दुःख में दे साथ मेरा
तुम बहन को भूलो कभी ना
पर्व उत्सव में बुलाना हमेशा
मेरा आशीष सदा संग तेरे
है दुआ का हाथ सदा सर तेरे
******@******
प्रेम और विश्वास के बंधन को मनाओ
जो दुआ माँगो उसे तुम हमेशा पाओ
भाई दूज का त्यौहार है, भईया जल्दी आओ
अपनी प्यारी बहना से आकर तिलक लगवाओ
भाई दूज की शुभ कामनायें
******@******
भाई दूज का है आया शुभ त्यौहार;
बहनों की दुआएं भाइयों के लिए हज़ार;
भाई बहन का यह अनमोल रिश्ता है बहुत अटूट;
बना रहे यह बंधन हमेशा खूब।
भाई दूज की शुभ कामनायें!
******@******
प्रेम और विश्वास के बंधन को मनाओ
जो दुआ माँगो उसे तुम हमेशा पाओ
भाई दूज का त्यौहार है, भईया जल्दी आओ
अपनी प्यारी बहना से आकर तिलक लगवाओ
भाई दूज की शुभ कामनायें
******@******
बहन लगाती तिलक, फिर मिठाई है खिलाती
भाई देता पैसे और बहन है मुस्कुराती
भाई-बहन का ये रिश्ता न पड़े कभी लूज
मेरे प्यारे भैया मुबारक हो आपको भाई दूज
हैप्पी भाई-दूज!
******@******
बहन चाहे भाई का प्यार
नहीं चाहे महंगे उपहार
रिश्ता अटूट रहे सदियों तक
मिले मेरे भाई को खुशियां अपार
हैप्पी भाई-दूज
******@******
खुशियों की शहनाई आँगन में बजे
मेरे भाई के द्वारा सदा दीपक से सजे
न हो कोई दुःख उसके जीवन में
बस कृपा हो तेरी भगवन सदा उसके जीवन में
******@******
चंदन का टीका रेशम का धागा
सावन की सुगंध बारिश की फुहार
भाई की उम्मीद बहना का प्यार
मुबारक हो आपको भाई दूज का त्योहार
******@******
प्रेम से सज़ा है ये दिन
कैसे कटे भाई तेरे बिन
अब ये मुस्कान बोझ सी लगती है
तू आजा अब ये सज़ा नहीं कटती है
भाई दूज की बधाई
******@******
याद है हमारा वो बचपन
वो लड़ना-झगड़ना और मनाना
यही होता है भाई बहिन का प्यार
इसी प्यार का प्रतिक है
भाई दूज का त्यौहार
भाई दूज की शुभकामनाएं
******@******
याद आता है अक्सर वो गुजरा हुआ ज़माना
तेरी मीठी सी आवाज़ में भाई कहकर बुलाना
अब किससे छेड़छाड़ करूं मेरी बहना
तेरी बहुत याद आती है मेरी प्यारी बहना
भाई दूज की शुभकामनाएं
******@******
आरती की थाली मैं सजाऊँ
कुमकुम और अक्षत से तिलक लगाऊं
तेरे उज्जवल भविष्य की कामना में करूँ
कभी न तुझ पर आएं संकट
ऐसी प्रार्थना मैं सदा करूँ
भाई दूज की शुभकामनाएं

0/Post a Comment/Comments

Sponsor