Friday, 22 February 2019

Vidai Shayari For Senior Students | स्टूडेंट विदाई शायरी

Vidai Shayari For Senior Students | स्टूडेंट विदाई शायरी

Vidai Shayari For Senior Students | स्टूडेंट विदाई शायरी
Friday, 22 February 2019
अगर तलाश करूँ कोई मिल ही जाएगा
मगर तुम्हारी तरह कौन मुझ को चाहेगा
******
ये रब ही जाने कि क्या क्या, ख़्याल अब होगा
ये तय है मन में सभी के, सवाल अब होगा
आप तो जान की मानिंद, हैं हम सबके लिये
आप के बिन यहाँ सभी का, हाल क्या होगा।
******
Vidai Shayari For Senior Students | स्टूडेंट विदाई शायरी 
******
जादा जादा छोड़ जाओ अपनी यादों के नुक़ूश
आने वाले कारवाँ के रहनुमा बन कर चलो
******
आप जैसा बड़प्पन, नहीं है कहीं
आप जैसा सरल मन, नहीं है कहीं
आपको हम विदा, आज कर दें मगर
सीनियर ऐसा सज़्ज़न, नहीं है कहीं।
******
******
विदा होकर आज यहाँ से चले जाओगे
पर आशा है यही की जहाँ भी जाओगे खुशीयाँ ही पाओगे।।
******
आप के साथ सब, प्रश्न हल हो गये
आप थे तो, हवा सारे छल हो गये
हम अकेले चले तो, बहुत खार थे
आप के साथ राहों में, गुल हो गये।
******
यादों की झड़ी सी है आँखों में छाई
हो रही आज आपकी विदाई
हम करते हैं ईश्वर से प्रार्थना पुरी हो जीवन की हर कामना।।
******
आपके वास्ते, कुछ भी कर जायेंगें
आप कर दें इशारा, तो मर जायेंगें
आपकी हर खुशी, हमको मंज़ूर है
पर विदा आपको, हम ना कर पायेंगें।
******
गूँजते रहते हैं अल्फ़ाज़ मिरे कानों में
तू तो आराम से कह देता है अल्लाह-हाफ़िज़
******
Aapke vaaste, kuch bhi kar jayenge
Aap kar den ishara to, mar jayenge
Aapki har khushi, hamko manzoor hai
Par vida aapko, ham na kar payenge.
******
जब ज़रूरत थी परिवार की, मिल गया
जब ज़रूरत पड़ी प्यार की, मिल गया
यूँ कहाँ सीनियर आपसे हैं यहाँ 
जब ज़रूरत पड़ी यार की, मिल गया।
******
******
गूँजते रहते हैं अल्फ़ाज़ मिरे कानों में
तू तो आराम से कह देता है अल्लाह-हाफ़िज़
******
थे कदम के निशां, बेहिचक चल पड़े
थामते आये हैं, हम अगर गिर पड़े
जिनसे सीखा उन्हें, कैसे कर दें विदा
क्या बड़ी बात है, हम अगर रो पड़े।
******
The kadam ke nisha, behichak chal pade
Thaamte aaye hain, ham agar gir pade
Jinse seekha unhen, kaise kar den vida
Kaya badi baat hai, ham agar ro pade.
******
श्रेय इनका बड़ा, कुछ जो हम कर सके
बेफिकर हो के अध्यन, गहन कर सके
यूँ कदम दर कदम, मार्गदर्शन मिला
मुश्किलें ढेर थीं, पर सहन कर सके।
******
Shrey inka bada, kuch jo ham kar sake
Befikar ho ke adhyayan, gahan kar sake
Yun kadam dar kadam, margdarshan mila
Mushkilen dhee thi, par sahan kar sake.
******
इक शुरुआत सी, ख़ुशनुमा हो गई
मिल के चलने की रुत सी, यहाँ हो गई
जीत जाने की लौं, आपसे जो मिली
वो धुवाँ बन उठी, आसमाँ हो गई।
******
******
Ik shuruaat si, khushnuma ho gayee
Mil ke chalne ki rut, si yahan ho gayee
Jeet jaane ki laun, aapse jo mili
Vo dhuaan ban uthi, aasma ho gayee.
******
बस रुँधे कंठ हैं, यूँ विकल कर दिया
दिल हुआ तरबतर, मन तरल कर दिया
आपकी ये जुदाई, कठिन हो गई
इस विदाई ने हमको, सजल कर दिया।
******
Bas rundhe kanth hai, yun vikal kar diya
Dil hua tarbatar, man taral kar diya
Aapki ye judaai, kathin ho gayee
Is vidai ne hamko, sazal kar diya.

दोस्तों, अगर Vidai Shayari For Senior Students की इन शायरियों में से आपको कोई भी Shayari पसंद आये तो आप उसे अपने सभी मित्रों और परिवार वालों को जरुर भेजें।
आपका अमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद् !
Vidai Shayari For Senior Students | स्टूडेंट विदाई शायरी
4/ 5
Oleh

Newsletter via email

If you like articles on this blog, please subscribe for free via email.