How to Improve Male Testosterone Level Naturally In Hindi

टेस्टोस्टेरॉन को मेल हार्मोन कहते हैं, हालांकि ये हार्मोन महिलाओं और पुरुषों दोनों में पाया जाता है। ये हार्मोन पुरुषों के वृषण और एड्रेनल ग्लैंड में बनते हैं। महिलाओं के ओवरीज में भी इस हार्मोन का निर्माण होता है, मगर बहुत कम मात्रा में। ये हार्मोन पुरुषों में स्पर्म के उत्पादन में भी मदद करता है। इसके अलावा ये हार्मोन हड्डियों और मसल्स में भार लाने के लिए, बॉडी में फैट को स्टोर करने के लिए और शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शरीर में टेस्टोस्टेरॉन की मात्रा के अनुसार पुरुषों में मूड का बदलाव भी होता है। टेस्टोस्टेरॉन की कमी से चिड़चिड़ापन या गुस्सैल स्वभाव हो सकता है।
How to Improve Male Testosterone Level Naturally In Hindi

कुछ ऐसे आहार हैं, जिनके सेवन से शरीर में टेस्टोस्टेरॉन का उत्पादन बढ़ता है। आइए आपको बताते हैं, कौन से हैं वो आहार।

विटामिन सी और विटामिन ए वाले आहार
विटामिन सी की प्रचुर मात्रा वाले साइट्रिक फलों से शरीर में स्ट्रेस हार्मोन कम होते हैं और टेस्टोस्टेरोन के स्तर में भी सुधार आता है। इसके अलावा विटामिन ए के सेवन से भी टेस्टोस्टेरोन के स्तर को आदर्श बनाने में भी सहायक होता है। संतरा, नींबू, अंगूर, आंवला, मौसमी, पालक आदि में विटामिन सी पर्याप्त पाया जाता है वहीं गाजर में विटामिन ए भरपूर पाया जाता है।

प्रोटीनयुक्त आहार लें
अंडा, हरी पत्‍तेदार सब्‍जियां और नट्स को नाश्ता कर अपना दिन शुरू करें। कार्बोहाइड्रेट वाले ब्रेकफास्‍ट टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्तर में गिरावट का कारण बनते हैं। इसलिए हमें कुछ भी उल्‍टा सीधा खा कर टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्तर को अव्यवस्थित नहीं करना चाहिये।

ऑलिव ऑयल का प्रयोग करें
ऑलिव ऑयल शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करता है जिससे टेस्टोस्टेरोन के स्तर में सुधार होता है और वह बढ़ जाता है। साथ ही ये स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है। इसलिए खाना बनाने आदि में ऑलिव ऑयल का प्रयोग करें। ऑलिव ऑयल के प्रयोग से दिल की बीमारियां भी दूर रहती हैं।

सैचुरेटेड फैट
रेड मीट में सैचुरेटेड फैट्स, जिंक और कोलेस्ट्रॉल प्रचुर मात्रा में होते हैं, जो शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में सहायक होते हैं। वहीं टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाने के लिए अंडे का सेवन भी लाभदायक होता है। इसमें विटामिन डी, सैचुरेटेड फैट्स और ओमेगा 3 एसिड होते हैं।

गोभी खाएं
गोभी प्रजाति की सब्जियां स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत फायदेमंद मानी जाती हैं। इसलिए आप फूल गोभी, बंद गोभी, ब्रोकली आदि को अपने आहार में शामिल करें। गोभी में डीआईएम की कफी मात्रा में होती है जो शरीर में टेस्टोस्टेरोन के लेवल को बढ़ाता है। यह शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को कम करता है, जिससे टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ने लगता है।

0/Post a Comment/Comments

Sponsor