Breaking News

6/breakingnews/random

सिरदर्द का इलाज | Tips For Headache

No comments
आजकल हर किसी के पास समय कम है और काम ज्यादा। ऐसे में लोग अपनी सेहत पर ध्यान नहीं देते और नतीजन शरीर छोटी-छोटी बीमारियों का घर बन जाता है। भले ही ये बीमारियां सामान्य लगती हों, लेकिन आगे चलकर गंभीर रूप ले लेती हैं। सिरदर्द भी इन्हीं बीमारियों में से एक है। कई बार सिरदर्द इतना बढ़ जाता है कि लोग सिरदर्द की दवा तक लेने लगते हैं। बाद में इन्हीं दवाइयों का बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए, दवा लेने से बेहतर है कि सिरदर्द के लिए घरेलू उपचार किए जाएं। आज इस लेख में हम सिरदर्द के कारण और सिरदर्द के लिए घरेलू उपचार आपको बता रहे हैं।
Headache (Sir Dard) Home Remedies in Hindi
सिरदर्द के घरेलू इलाज – Home Remedies for Headache in Hindi
ये तो थे कुछ कारण जिनसे सिरदर्द होता है। ऐसे में अगर बार-बार सिरदर्द की दवा ली जाए तो यह सेहत के लिए अच्छा नहीं है। ऐसे में ज़रूरी है कि आप कुछ ऐसे उपाय करें, जिसका आपकी सेहत पर बुरा असर भी न पड़े और आपका सिरदर्द भी ठीक हो जाए। इसलिए, नीचे हम सिरदर्द के लिए घरेलू उपचार आपको बता रहे हैं, जिससे न सिर्फ़ आपको सिरदर्द में आराम मिलेगा, बल्कि आप पर कोई बुरा प्रभाव भी नहीं पड़ेगा।

2. ठंडा या गर्म सेंक ( Sar Dard Ka Ramban Ilaj )
कई बार ज़्यादा ठंड या गर्मी होने से सिरदर्द होने लगता है। ऐसे में तुरंत सिरदर्द की दवा लेने से अच्छा है कि आप सिरदर्द के लिए घरेलू उपचार करें। सिकाई उन्हीं उपचारों में से एक है।
सामग्री ( ठंडा या गर्म सेंक )

  1. बर्फ के टुकड़े
  2. गर्म पानी
  3. आइस बैग
  4. हॉट वॉटर बैग
  5. कैसे उपयोग करें ?

अगर आपको गर्मी के दिनों में सिरदर्द की परेशानी हो रही है, तो बर्फ के टुकड़ों को आइस बैग में भरकर अपने माथे, गर्दन और पीठ पर 10 से 15 मिनट के लिए रखें।
अगर आपके पास आइस बैग नहीं है, तो बर्फ के टुकड़ों को किसी कपड़े में बांधकर, उसे दर्द वाली जगह पर थोड़ी-थोड़ी देर के लिए रखें।
अगर आपको ठंड के दिनों में सिरदर्द हो रही है, तो आप पानी को गुनगुना करके हॉट वॉटर बैग में डालकर उससे सेंक लें।
अगर हॉट वॉटर बैग नहीं है, तो तौलिये या फिर साफ़ कपड़े को गर्म पानी में भिगोकर उससे दर्द वाली जगह पर सेंक लें।

3. लौंग से इलाज ( Sar Dard Ka Desi Totka In Hindi )
घंटों काम करना या किसी तनाव के कारण सिरदर्द होना आम बात होती है। ऐसे में लौंग का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है। दांत दर्द के लिए लौंग का उपयोग सब जानते हैं, लेकिन सिरदर्द के लिए भी लौंग काफ़ी फायदेमंद है। लौंग में चमत्कारी दर्द-निवारक गुण होते हैं।
सामग्री ( लौंग से इलाज )

  1. कुछ लौंग के टुकड़े
  2. लौंग का तेल
  3. बादाम या नारियल तेल

लौंग को एक कपड़े या रूमाल में बांधकर दर्द के दौरान सूंघ सकते हैं।
इसके अलावा, एक या दो चम्मच लौंग के तेल को बादाम या नारियल तेल में मिलाकर माथे पर लगाएं।
अधिक दर्द होने पर कुछ घंटो के अंतराल में इस मिश्रण से लगातार अपने माथे पर मालिश करें।
इससे आपको सिरदर्द से राहत मिलेगी।
लौंग का तेल सिरदर्द में गुणकारी घरेलू उपाय है। इससे थोड़े देर के लिए ही सही, लेकिन सिरदर्द से राहत मिलती है। यह प्राकृतिक तौर से एंटी-इंफ्लेमेटरी व एंटीसेप्टिक तो है ही, साथ ही इसमें अन्य कई पोषक तत्व भी मौजूद हैं। यह न सिर्फ़ सिरदर्द का इलाज करता है, बल्कि तनाव की परेशानी को भी कम करता है ।

4.अदरक से उपचार ( Patanjali Sir Dard Ki Dawa )
सामग्री (अदरक )

  1. चार छोटे-छोटे अदरक के टुकड़े
  2. तीन कप पानी

एक बर्तन में पानी उबालें।
अदरक के टुकड़ों को घिसकर उबलते पानी में डाल दें।
अब इस उबलते पानी को थोड़ी देर के लिए ढक दें।
थोड़ी देर बाद मिश्रण को छान लें और गरमा-गर्म पिएं।
आप एक दिन में एक या दो कप इस मिश्रण का सेवन कर सकते हैं।
वैसे तो अदरक सिरदर्द को कम कर सकता है, लेकिन यह सबसे ज़्यादा माइग्रेन में असरदार होता है। इसके अलावा यह मितली की परेशानी को भी कम करता है। यह घरेलू नुस्खा काफ़ी कम वक़्त में सिरदर्द का इलाज कर सकता है।

5. तुलसी से उपचार ( Adhe Sar Dard Ka Ilaj )
तुलसी को वर्षों से औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। सिर्फ़, सर्दी-ज़ुकाम ही नहीं, बल्कि सिरदर्द में भी तुलसी काफ़ी फायदेमंद है।
सामग्री (  तुलसी से उपचार )

  1. एक या दो बूंद तुलसी का तेल
  2. एक या दो चम्मच अन्य तेल जो आपको सूट करे (कैरियर ऑयल)

तुलसी के तेल को अन्य तेल के साथ मिलाएं।
अब इस तेल के मिश्रण को रूई की मदद से या अंगुलियों पर लगाकर माथे और गर्दन पर हल्की-हल्की मालिश करें।
फिर इसे कुछ घंटों के लिए छोड़ दें।
इससे आपको आराम मिलेगा।
अधिक दर्द होने पर हर कुछ घंटों में इसे लगा सकते हैं।
यह तेल आपकी मांसपेशियों में तनाव व अकड़न को दूर करता है। इसे दर्द वाले जगह पर लगाने से काफ़ी हद तक आराम मिलेगा। इसके एंटी-माइक्रोबियल गुण सिरदर्द से राहत दिलाते हैं। यह तनाव और माइग्रेन के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

6. पुदीने का तेल से उपचार ( Tips For Headache )
पुदीने के साथ-साथ उसका तेल भी फायदेमंद है। सिरदर्द में पुदीने का तेल काफ़ी लाभकारी होता है।
सामग्री ( पुदीने का तेल से उपचार )

  1. एक या दो बूंद पुदीने का तेल
  2. एक चम्मच जैतून या नारियल तेल

दोनों तेल को मिला लें और इससे अपने माथे पर मालिश करें।
दर्द के दौरान आप थोड़े-थोड़े अंतराल में इस मिश्रण से मालिश करते रहें।?

यह तेल आपको दर्द से राहत देगा और ठंडक का एहसास दिलाएगा। जब आप इस तेल को अपने माथे पर लगाएंगे, तो यह सिरदर्द से तुरंत आराम दिलाएगा। यह मस्तिष्क में ब्लड सर्कुलेशन को बढाकर मांसपेशियों के संकुचन को रोकता है। यह तनाव से होने वाले सिरदर्द में बहुत ही फायदेमंद है। पुदीने में मेंथोल भी होता है, जो सिरदर्द से राहत दिला सकता है और माइग्रेन में लाभकारी होता है।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आई हेतो इस पोस्ट को अपने मित्रो के साथ शेयर जरुर करे और कमेंट में अपना सवाल और सुजाव जरुर दे! और हमारे साथ इसी तरह बने रहे यहाँ आपको अन्य कई तरह की जानकारी प्राप्त होगी!
आपका अमूल्य समय देने के किये धन्यवाद्!

No comments

Post a Comment

Internet

5/cate3/Internet

Contact Form

Name

Email *

Message *